Site Map कैसे बनाए और कैसे इसको Root folder में upload करें। 

Site Map कैसे बनाए और कैसे इसको Root folder में upload करें।

Site Map कैसे बनाए और कैसे इसको Root folder में upload करें। 

अपनी वेबसाइट का sitemap जरूर बनाए क्या SEO factor में sitemap का रोल ज्यादा important है। sitemap kya hota hai ओर कितने type के site map होते है इसके लिए हमारे इस article में विस्तार से जाने । 

Internet में कुछ दशक पहले जो goverment की वेबसाइट होती थी उनमें बहुत सारे लिंक हुआ करते थे. वो लिंक user के लिए होते थे। User को उस लिंक से वेबसाइट का कोनसा आर्टिकल या काेंसी कैटेगरी बनी है. वो सब एक जगह पर ही मालूम हो जाता था ।

आज भी आपको कुछ वेबसाइट में HTML Site Map लिंक देखने को मिल जाएंगे .अगर आप जानना चाहते है कि HTML लिंक क्या होते है तो लिंक पर क्लिक करके आर्टिकल जरूर पढ़ सकते है।

लेकिन जैसे जैसे Google Latest Updates आते रहे वैसे ही site Map में भी काफी बदलाव आया है। आज Site Map को जायदा तर ब्लॉग या वेबसाइट पर XML में पब्लिश करते है।अब आप XML (Extensible Markup Language) क्या होता है. ये भी जान सकते है Google पर Search करके । अगर आपको नहीं पता कि Hyperlink किसे कहते है तो आप Youtube पर खोजे ।

अभी थोड़े समय पहले में अपने ब्लॉग के लिए एक आर्टिकल लिख रहा था तो मुझे मेरे Facebook page hindi baaz पर किसी ने पूछा कि sitemap kya hota hai ओर कैसे इसे upload करे तो मुझे लगा कि इस पर भी एक आर्टिकल लिखना चाहिए जिससे new beginners को पता चल सके।

Site Map क्या होता है । What is a Site map (hindi)

सरल भाषा में Site Map हमारे ब्लॉग के सारे post ओर Pages के लिंक की एक list होती है। जो एक जगह collect करके रख देता है ओर Google के द्वारा फिर इसे Crwal किया जाता है जिससे गूगल को आपके हर एक page ओर Post तक पहुंचने में कोई समय नहीं आती ।

कभी कभी Google Search Engine के Spider यानी के Crawler आपके pages या post को crawl नहीं कर पाते । उसका कारण यही होता है कि अपने या तो pages ओर post को Site map में add नहीं किया या फिर आपके पेजेस में broken Link है ।

Read Also

Google Analytics क्या है

Backlinks क्या होता है 

किसी Website या Blog के लिए Site Map इतना importan है कि ये आपकी SEO रैंकिंग ओर Google crwaling में error दिखता है । इसके बिना आपका पेज ओर content crwal नहीं हो पाता है ओर ना गूगल को regularly updates मिल पाता है।

Google site map के जरिए जल्दी से आपके content को समझ लेता है
ओर इतनी जल्दी वो यूजर को result show कर देता है ।

XML Site Map क्या होता है।

 Site Map उन pages ओर post की लिस्ट को बोलते है. जिसको सभी user access कर सकते है. लेकिन XML Site Map एक ऐसा तरीका है जिसके माध्यम से हम Google को अपने blog ओर pages लिंक के बारे में सूचित करते है. ताकि google उस crawl कर सके.

Site Map Google को ये भी जानकारी देता है कि कोनसा pages regularly अपडेट्स होते ओर कौनसे लिंक जायदा important है. वैसे तो इससे आपकी ranking को कुछ खास boost नहीं मिलता लेकिन crwaling अच्छे से हो जाती है।

WordPress में XML Sitemap कैसे upload करे ।

WordPress में आप अपने XML Site map को बड़ी आसान तरीके से कर सकते है. अगर अपने अपना Site Map नहीं Genrate किया तो पहले उसे Genrate करले इसके लिए में आपको XML-Sitemap website recom mend करता हू आप जाकर अपनी website का link वह submit करदे ओर थोड़ा इंटिजर करने के बाद उसे वह से download करले।

कैसे इसको Root folder में upload करें।

अगर अपने अब अपना Site Map जेनरेट कर लिया है. तो चलिए इस कहा अपलोड करें जाने ,site map Genrate करने के बाद आपको अपने Cpanle >File Manager>Public html folder में जाकर अपनी XML file को अपलोड करना होगा ओर उसके बाद आपको search Console में site map submit करना होगा ताकि Google आपके blog को crwal कर सके।

आखिर Site Map की जरूरत क्यों है।

XML Site Map हम Google के लिए बनाते है. ताकि Google हमारे blog पर
जब भी आए तो सारे pages को index कर सके और time to time हमारे ब्लॉग
के pages ओर post अपडेट्स भी उसे पता चलते रहे.

New blogger के पास post काम होती है. ओर उनको internal linking में problem होती है.
तब Site Map के द्वारा हम अपने सारे pages crwal करा सकते है.

अगर आपकी individual post index नहीं हो रही बार बार तो तब हम Site Map
की जरूरत पड़ती है. अगर sitemap पहले से upload ओर submite किया हुआ है तो हमें कोई समस्या नहीं आती.

Google Site Map को कैसे खोजता है।

Google के जो spider होते है वो बहुत स्मार्ट होते है. आपकी website पर जब भी कोई post publish होती है. तो जनाब ping service के द्वारा तुरंत आपके ब्लॉग पर पहुंच जाते है. असल में उनको एक ping पहुंच जाती है. ओर गूगल को ये लगता ह कुछ बदलाव हुआ है.

ये सब आपको hollywood movies जैसा लग रहा होगा.

Site Map कितने प्रकार के होते है 

देखा जाए तो Site माप 2 प्रकार के होते है जैसे –

  1. HTML Site Map(Hypertext Markup Language)
  2. XML Site map(Extensible Markup Language)

XML site Map के भी 2 part होते है।

  1. Index Site Map (URL कितने है वेबसाइट पर)
  2. Url Site Map(URL की आखरी जानकारी)

URL site map के 3 part है।

  • Webpages Site Map
  • Image Site Map
  • Video Site Map

HTML Site Map क्या होता है।

HTML site Map सारे pages ओर post link का एक collection होता है
जिसको कोई भी user access कर सकता है ओर ये यूजर को किसी भी पोस्ट
ओर pages को बड़ी आसान तरीके से खोजने में मदद करता है.

What are XML Sitemaps

XML sitemaps बुनियादी तौर पर human के समझ ना आने वाली एक ऐसी भाषा है. जिसको human आसानी से नहीं समझ सकता लेकिन वही बात करे मशीन कि तो ये एक मशीनी language है जिसे google search engine द्वारा समझा जाता है. इसलिए इसको search engine के लिए design किया गया है. ताकि google internal ओर external resourse की जानकारी जुटा सके.

Image Sitemaps

इमेज site map के लिए आप अपने existing sitemap या फिर एक new sitemap file को create कर सकते है.Sitemap में images को add करने पर google आसानी से discover कर लेता है.जैसा कि आपके साइट की images javascript code के साथ पहुंचती है.

Video Site Map

Video sitemap एक sitemaps ही है जो आपके pages में hosted video की additional information दी होती है video site map बनना एक बेहतरीन तरीका है. गूगल को अपने video के बारे में बताने का ओर तब गूगल आपके content के साथ आपके video को भी show कर सकता है.

Guidelines for video Sitemaps

  • आप एक अलग से sitemaps बना सकते है video का आप अपने sitemap में
    video को embed कर सकते है ओर ये आपके लिए बहुत convenient रहेगा.
  • आप एक webpage में multiple video को add कर सकते है.
  • Sitemap में हर एक entry URL form में होती है. 

SITEMAP कैसे बनाएं

sitemap kya hota hai और इसको बनाने का फायदा ये है कि हम अपने pages के
content में additional information दे सकते है.

Step 1: आप sitemap को xml.sitemap वेबसाइट से बना सकते है. ये एक सिंपल तरीका है
ओर बनाने के बाद आप उसे अपने cpanle में अपलोड कर सकते है केसा उपर पहले ही हम बता चुके है।

Step 2: sitemap को अब गूगल को सूचित करना होगा कि आपका sitemap ready हो चुका है।
उसके लिए आपको search console में जाकर अपना site map URL को submite करना होगा।

Site map बनाने से पहले कुछ points

  • जितने भी URL है वो सब एक host से ही आने चाहिए।
  • URL maximum length 2048 charecters होना चाहिए।
  • एक site map में हम 50,000 URL तक limit होती है।
  • Site map file का maximum size 50mb होता है।

Sitemap valid है ये कैसे check करें।

अगर आप अपना Sitemap बना कर direct upload कर देते है तो आपको बाद में पता चलता है कि वो valid है या उसमें कुछ error है ,लेकिन आप अपलोड करने से पहले ही अपना sitemap validation check कर सकते है वो भी बिल्कुल फ्री में webmaster tool की मदद से ।

या आप XML-Sitemaps वेबसाइट में जाकर अपने sitemap
का URL डाल दे ओर आपका sitemap चैक हो जाएगा।

Conclusion

sitemap kya hota hai ओर कैसे इसे upload करते है अबतक आपको ये चीज अच्छे से समझ आ गया होगा की ये हमारी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए कितना जरूरी है।अगर आपका page या पोस्ट आपसे index नहीं हो रही है तो आप sitemap जरूर बनाकर सबमिट करदे। ताकि google के crwlers कोई भी पेजेस को miss ना करे।

मुझे पूरा यकीन है कि आपको sitemap kya hota hai (what is a Sitemap)
के बारे में मेने पूरी जानकारी दी है ओर अगर कुछ जानकारी आपके हिसाब से छूट गई हो
तो आप हमे comment box में जरूर लिखे।

आप इस आर्टिकल को लोगो को शेयर करिए ओर हमे भी थोड़ा support करिए
एक दूसरे को support से अपना इंडिया आगे बढ़ेगा।

 

थैंक यू।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here