tds full form क्या है ,tds क्या होता है ? tds कब लगता है ?

tds full form

Tds full form क्या है | tds full form in hindi | tds meaning | tds की फुल जानकारी | tax information.

Tax का नाम आते ही क्या आपको tds कटने का ख्याल आता है ,या आप अभी tax के दायरे में नही आते है और इसलिए आने वाले समय मे आप भी tax के दायरे में आएंगे तो आज से ही अपनी वित्तीय शिक्षा चालू करदे।

हम अपने tds full form के article में आपको tax से जुड़ी बहुत सी जानकारी देने वाले है जिससे आप सरकार को देने वाला tax , save करलोगे ,अगर वित्तीय शिक्षा को आप समझना चाहते हो और अमीर बनना चाहते हो तो में आपको एक book recommend कर रहा हूँ – Rich Dad and Poor Dad जिसके माध्यम से आप अपनी वित्तीय शिक्षा स्टार्ट कर सकते है। चलिये जानते है tds full form क्या है और साथ ही tds meaning भी .

TDS full form क्या है ?

Tds को वह लोग ज्यादा अच्छे से जानते है जो Salaried person है यानी जो एक Government या private कर्मचारी है जिनकी सैलरी tax के दायरे में आती है। फिलहाल हम आगे इस बारे में बात करेंगे अभी हम TDS full form को जानते है TDS  – Tax Deducted at Source जैसा कि tds full form से पता चलता है कि ये Tax deduction है जो आपकी income पर लगता है या income Source पर लगता है।

tds meaning (टीडीएस का अर्थ)

जैसा कि हम पहेले भी tds full form – tax deducted at source जान चुके लेकिन tds meaning अभी तक हमने नही जानी तो टीडीएस का अर्थ जानते है – Tax ( कर)  + Deducted (कटौती ) + Source ( स्रोत ,साधन) जब तीनो को एक साथ पड़ते है तो – कर कटौती स्रोत कहा जाता है । या इसको ऐसे पढ़ेंगे – स्रोत पर कटौती कर 

TDS क्या है ( What is TDS )

Tax ( कर) भारत मे कब लागू हुआ और क्यों लागू हुआ थोड़ा tax history भी समझते है।

7 अप्रैल सन 1860 में भारत का पहला बजट पूर्व-स्वतंत्रता वित्त मंत्री, जेम्स विल्सन के द्वारा पेश किया गया था । सन 1860 में भारतीय आयकर अधिनियम को 1857 के सैन्य विद्रोह के कारण सरकार के द्वारा हुए नुकसान की भरपाई करने के लिए कर (Tax) लागू किया गया।

( लेकिन क्या ये tax अमीरों पर लागू हुआ था या गरीबो पर या फिर दोनों पर )

इस लागू हुए tax में कई बदलाव होते गए और आज हम भारत मे Tax को GST के नाम से भी जानते है लेकिन tds कोई tax नही है ये tax को collect  करने के एक mechanism है।

TDS का अर्थ स्रोत पर कर कटौती है। स्रोत पर कर कटौती (टीडीएस) का अर्थ है, ये वेतन, किराया, संपत्ति की बिक्री, लाभांश आदि के रूप में आय पर कर collect किया जाता है। ये भुक्तान करता के द्वारा काट कर आपकी तरफ से सरकार के खाते income tax department में जमा किया जाता है। 

Tds कहाँ कहाँ लागु होता है ?

टीडीएस एक तरह का टैक्स है जो आपकी इनकम पर लागु होता है मान लेते है की आप कौन बनेगा करोड़ पति ( KBC) खेलने जाते है वह आप 1 करोड़ जीत जाते है तो जब ये रकम आपको दी जाएगी तो सरकार आपको tds काट कर बाकि की रकम आपके अकाउंट में जमा हो जाएगी। और कहाँ लागु होता है 

  1. Salary पर tds देना होता है 
  2. Lottery पर tds देना होता है 
  3. KBC पर भी tds कटता है 
  4. PF withdrawal पर भी tds देना होता है लेकिन सभी को नहीं जिनका pf 50000 से जयदा और सर्वीस 5 साल से कम इस condition( शर्त ) में देय होता है। 
  5. ये घोड़े की रेस में जीते गए Rs 10000 से  ज्यादा के amount पर 30 % लगता है ।
  6. ये dividend पर Rs 5000 के ऊपर amount पर 10% लगता है।
  7. और भी कई अन्य जगह है जहाँ आपको tax देना होता इसकी एक लिस्ट आपको हम देंगे जिसके लिए आप इस लिंक पर क्लिक करे – LIST

Tax Collection के प्रकार 

Tds full form के इस आर्टिकल में आप ऊपर जान चुके हो tds क्या होता है । एक बार फिर दोहराते है – Government ने आपकी आने वाली income Source पर एक tax काटती है जिसे हम tds के तौर पर जानते है। tax collection करने का एक mechanism है इसके कई प्रकार है जिनकी हम चर्चा करेंगे।

  1. TDS  tax
  2. TCS tax
  3. Advance Tax
  4. Self Assessment tax

1 . TDS – Tax Dedicated Source

TDs कर की वह राशि है जो कटौतीकरता के द्वारा करदाताओं से काटी जाती है , फिर कटोटिकर्ता उसको आयकर विभाग के सरकारी खाते में जमा कराते है। टीडीएस दरें विभिन्न व्यक्तियों के लिए विभिन्न आयु और आय के अनुसार लगाई जाती है।

2 . TCS – tax Collected at Source

TCS वह कर है जो Seller पर देय होता है लेकिन इसे खरीदार से एकत्र किया जाता है। आयकर अधिनियम धारा 206C में निर्दिष्ट सामानों की सूची दी गयी है।

Advance tax –

ये वह टैक्स है जो आय के अलावा भी और इनकम स्रोत पे लगता है जैसे – किराया , शेयर से लाभ ,सावधि जमा ,लाटरी जीत, आदि पर लागू होता है। इसका भुगतान ऑनलाइन या बैंक के माध्यम से होता है।

Self Assessment Tax 

व्यक्तियों को अन्य स्रोतों (Source ) से आने वाली इनकम पर Self Assessment tax (SAT) ( स्व मूल्यांकन कर ) का भुगतान करना होता है ।भुगतान के लिए कोई तारीख नही तय है इसका भुगतान कुछ सरल step के द्वरा ऑनलाइन किया जाता है। इसकी गणना साधारण तरीके से होती है।

100k meaning in hindi
Web 3.0 क्या है
new web series coming in 2022
instagram video downloder
google mera naam kya hai

PAN और TAN के बीच क्या अंतर है?

PAN – Permanent Accounts Number (स्थायी खाता संख्या ) और TAN का अर्थ है tax Deduction Account number ( कर कटौती खाता संख्या ) ,TAN उस व्यक्ति को लेना होता है जो कर कटौती (tax deduction) के लिए जिम्मेदार हो यानी कटौती करता । tds से संबंधित सभी दस्तावेज में और आयकर विभाग के सभी डॉक्यूमेंट या पत्राचार में भी TAN का उल्लेख करना होता है।

  • TAN के लिए pan का इस्तिमाल नही किया जा सकता क्योंकि taxpayer को TAN प्राप्त करना होता है जबकि उसके पास PAN available है तब भी।
  • हालांकि भूमि और भवन की खरीदारी करने के लिए TAN जरूरी नही है वह tds भरने लिए PAN इस्तिमाल कर सकते है।
  • PAN की KYC न होने पर आपसे maximum tds काटा जाता है।  
  • PAN की KYC होने पर आपके PF से 10 % tds कटता है। 

Types of indirect Taxes

  1. Service Tax

Service tax केंद्र सरकार के द्वारा किसी संगठन उसके द्वारा दी जाने वाली services पर लगता है।

  1. Value added tax ( VAT)

Vat का फुल फॉर्म ” value added tax” होता है VAT को हिंदी में मूल्य वर्धित कर कहते है । भारत मे GST से पहेले बिक्री पर VAT लगता था , यदि कोई व्यक्ति किसी वस्तु या सेवा आपूर्ति कर का वार्षिक टर्नओवर 5 लाख होता है तो उसे VAT भरने के लिए registration करना होता था।

भारत मे VAT टैक्स 1 अप्रैल 2005 को लागू किया गया था। सरल भाषा मे कहे तो – जब भी आप कोई वस्तु खरीदारी और बिक्री करते हो तो तब आपको अपने लाभ का कुछ प्रतिशत भाग भारत सरकार को भी देना होता है। लेकिन ये 5 लाख से ऊपर के टर्नओवर पर लागू होता है।

Stamp duty

किसी भी अचल संपत्ति (भूमि ,घर,प्लाट आदि  जो स्थिर हो जिसे हम कही भी ले जा न सके ) के हस्तांतरण पर Stamp शुल्क लगाया जाता है। और ये उस राज्य की सरकार को दिया जाता है जहाँ अचल संपत्ति स्थिर है साथ ही ये सभी कानूनी दस्तावेजो पर भी लगया जाता है। 

  1. Custom duty

सीमा शुल्क को Custom duty tax कहते है ये वह टैक्स होता है जो सरकार अंतरराष्ट्रीय सीमाओं पर लगती है जिससे सरकार का राज्यस्व बढ़ता है । ये वस्तुओं के आयात और निर्यात पर लगया जाता है।

Entertainment Tax

मनोरंजन पर tax राज्यसरकार द्वारा लगया जाता है इसके लगाने की प्रक्रिया मनोरंजन के जितने सादन जैसे ,गेम ,movies show ,खेल ,खेल स्थान , पार्क इन सब जगह लगने वाले टिकट की बिक्री पर tax लगता है ।

Securities Transaction Tax

Securities टैक्स शेयर बाजार में होने वाले listed Equity की हर खरीद और बिक्री पर प्रतिभूति लेनदेन कर लगया जाता है । कर की दर सरकार द्वारा निर्धारित की जाती है।

Tds E payment Online ( टीडीएस का भुकतान ऑनलाइन कैसे करे )

अगर आपको टीडीएस का भुकतान ऑनलाइन करना है तो सबसे पहले आप tds e payment online करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाए 

Steps 1 : official website पर क्लिक करे।

https://onlineservices.tin.egov-nsdl.com/etaxnew/tdsnontds.jsp  इस पर क्लिक करके आप ऑफिसियल वेबसाइट पर पहुच जाएंगे अब  इस पेज पर tds/tcs अनुभाग के तहत चालान संख्या /ITNS 281 विकल्प चुने।

Steps 2 : दूसरे चरण में आपको 30 मिनट की timing के साथ एक फॉर्म में अपने बिज़नेस ओर टीडीएस के लिए जो जरूरी detail है वो भरनी होगी।

Steps 3 :- एक बार सभी विवरण भरने के बाद आपको नीचे दिए गया captcha code( कैप्चा कोड) भरना होगा और आगे क्बटन पर क्लिक करे।

Steps 4 :- आगे आपके पास payment के दो विकल्प होंगे एक net banking और दूसरा Debit Card से भुगतान कर सकते है इसमे भी कैप्चा के द्वारा किया जाएगा।

Steps 5 :- IT department के Database के अनुसार स्क्रीन पर करदाताओं के नाम के साथ उनके गैर वित्तीय/वित्तीय विवरण प्रदशित किया जाएगा।

Step 6 :- पुष्टि होने पर करदाता को बैंक भुगतान गेटवे पेज पर भेजा जाएगा फिर आप नेटबैंकिंग और डेबिट कार्ड से payement करे।

Steps 7 :- सफल भुगतान होने पर आपको tds payment प्रमाणपत्र मिल जाएगा। 

Conclusion

Tds full form क्या है , tds full form in hindi ,tds meaning ,tds की फुल जानकारी , tax information इसमे मेने आपको गूगल पर खोजे जाने वाले इन keyword पर जानकारी दी है। 

आशा करता हूँ आपको मेरा आर्टिकल पसंद आया होगा अगर आपको अच्छा लगा हो तो हमारे लेख को जरूर शेयर करे और लोगो की help जरूर करे। लोगो की मदद करने से आपको भी सीखने को जरूर मिलता है।

download pan card online
Aadhar card link to voter ID
Part time Jobs
Mobile se paise kaise kamaye ?
PAYTM Postpaid loan kya hai ?
CoinDCX me account kaise banaye ?

FAQS

टीडीएस फुल फॉर्म क्या है ?

टीडीएस का पूरा नाम – Tax Deducted at Source है इसको हिंदी में – कर कटौती स्रोत कहा जाता है।

TCS का फुल फॉर्म क्या है ?

Tcs का फुल फॉर्म है – tax collected at Source  इसे हिंदी में (स्रोत पर एकत्रित कर ) कहा जाता है।

Custom duty tax क्या है ?

इसको सीमा शुल्क कहा जाता है जो सरकार के द्वरा अंतरराष्ट्री सीमाओं पर लगाया जाता है।

GST full form क्या है ?

Gst का पूरा नाम goods and service tax है ,ये वस्तुओं और सेवाओं पर लगया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here