Homeopathic Doctors Kaise bane | bhms full form 2023

BHMS Full Form

Homeopathic Doctors Kaise bane | diploma in homeopathic | homeopathic course | bhms full form | BHMS Full Course Details in Hindi | Homeopathic Medicine.

BHMS Full Form क्या है ( full form of BHMS )

अगर आप BHMS का केवल full form जानने आये है तो आपको बेसक full form हम बतएँगे BHMS full formBachelor of Homeopathic Medicine and Surgery. Full form जानने के बाद अगर आप BHMS डिग्री ओर कोर्स के बारे में जानने में भी रुचि रखते है तो हमारे लेख में सारी detail शेयर की जा रही है जरूर पढ़ें। क्या आप भी BHMS course करना चाहते है।

BHMS क्या है ? (Homeopathic क्या है )

Bhms एक स्नातर स्तर का एक प्रोग्राम है जिसे आप 12वी के बाद कर सकते है ,जहाँ उम्मीदवार होम्योपैथिक चिकित्सा का ज्ञान प्राप्त करता है, BHMS में एडमिशन लेने के लिए उम्मीदवार को NEET ,PUCET,KEAM,IPUCET आदि में से किसी एक मे प्रवेश परीक्षा में बैठने की आवश्यकता होती और अन्य चिकित्सा प्रोग्राम की तरह इसमे भी आपको एक साल की internship की जरूरत होती है। तभी आप Homeopathic डॉक्टर बन सकते है।

Homeopathic Medicine एक alternative चिकित्सा है जो इस सिद्धांत पर आधारित है कि मानव शरीर स्वंम को ठीक करने की क्षमता है। होम्योपैथिक वीभन्न बीमारियों के इलाज में शरीर की प्राकतिक उपचार प्रक्रिया का उपयोग करते है। homeopathic medicine नेचुरल पदार्थो जैसे पौधों  और खनिज से बनाई जाती है।

Homeopathic शब्द की उत्पत्ति दो greek शब्द homeo और pathos से हुयी है । homeo का मतलब – सामान (Similar) और pathos का मतलब – पीड़ा या उपचार (suffering or treatment) है । इसलिए homeopathic Doctors बीमारी की जड़ का पता लगा कर उसे जड़ से खत्म करने की कोशिस करते है । नैचुरली होम्योपैथिक में बीमारी को ठीक करने में अधिक समय लगता है।

होम्योपैथी में विभिन्न पाठ्यक्रम ( Homeopathic Courses )

होम्योपैथिक कोर्स करना चाहते है तो कई सारे course जैसे डिप्लोमा ,सर्टिफिकेट और डिग्री कोर्स मौजूद है। हम आपको सभी डिफरेंट कोर्स की जानकारी देंगे जिसके माध्यम से आपको अपने career के लिए सही फैसला लेने में खुद पर एक विश्वास जगेगा।

Homeopathic Certificate Program – कई ऐसे इंस्टीटूट है जो डिफरेंट homeopathic certificate program offer करते है। जिनकी अवधि 3 से 6 month तक होती है।

Homeopathic Diploma Course -Student अगर डिप्लोमा कोर्स करना चाहे तो diploma in homeopathic ,Diploma in Homoeopathic and Medicines ,Diploma in Electro Homoeopathy Medicine (D.E.H.M.)

Homeopathic Bachelor Courses – स्नातक स्तर पर Student homeopathic में BHMS और BEMS Program को चुन सकते है। इन पाठ्यक्रम की अवधि 3 – 5 वर्ष की है।

Homeopathic Master Course – मास्टर लेवल पर कोर्स भी कर सकते है इसके लिए M.D का कोर्स करना होता है । जैसे – (Home – Pharmacy ), M. D ( Home Practise Of Medicine ) M.D ( Homeopathic)

(Materia Medica ) ये मास्टर लेवल के कोर्स 3 साल के होते है ।

Eligibility for Homeopathy Courses

अगर आप होम्योपैथिक डॉक्टर बनना चाहते तो आपको कुछ आवश्कताओं ओर मापदंड को पूरा करने की जरूरत होती है। जैसे – 

Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery (BHMS)

  • उम्मीदवारों को भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान और अंग्रेजी के साथ 10+2 उत्तीर्ण होना चाहिए
  • उन्हें कुल मिलाकर 50% अंक प्राप्त करने चाहिए और आरक्षित श्रेणियों के उम्मीदवारों को कुल मिलाकर 45% अंक प्राप्त करने चाहिए
  •  न्यूनतम आयु 17 वर्ष होनी चाहिए
  •  उन्हें NEET क्वालिफाई करना चाहिए

Master course

उम्मीदवारों के पास किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज या विश्वविद्यालय से होम्योपैथी में स्नातक की डिग्री होनी चाहिए

Homeopathy: Top Entrance Exams

Homeopathic में एडमिशन के लिए कुछ इंस्टिट्यूट विभिन्न entrance exam कराते है और वही कुछ राज्य सामान्य एग्जाम के जरिये एडमिशन देते है। कुछ एग्जाम हम नीचे दे रहे है।

Entrance exams 

  1. NEET 2022 – National Eligibility Cum Entrance Test
  2. PUCET 2022 – Punjab University Common Entrance Test
  3. KEAM 2022 – Kerala Engineering, Agriculture and Medical
  4. IPU CET 2022 – Indraprastha University Common Entrance Test
  5. BVP CET 2022 – Bharati Vidyapeeth Common Entrance Test

Homeopathy Course Structure.

पूरे BHMS पाठ्यक्रम में चिकित्सा ,जीव विज्ञान और शरीर विज्ञान की वीभन्न शाखाओ पर बेसिक और एडवांस लेवल की नॉलेज के लिए कई सारे सब्जेक्ट दिए गए है। डिग्री प्राप्त करने से पहेले एक वर्ष की इंटरशिप भी करनी है।

  1. Anatomy
  2. Physiology including Biochemistry
  3. Organon of Medicine, Principles of Homoeopathic Philosophy and Psychology
  4. Homeopathic Pharmacy
  5. Pathology and Microbiology
  6. Homeopathic Materia Medica and Therapeutics
  7. Forensic Medicine and Toxicology
  8. Practice of Medicine
  9. Surgery
  10. Obstetrics and Gynaecology
  11. Community Medicine
  12. Case Taking and Repertory

Course पूरा होने के बाद हर विषय पर मजबूत पकड़ और समझ ,बिमारियों को ठीक करने का निदान और सक्षम दृष्टिकोण होना जरूरी है ।

भारत में, केवल दो कॉलेज हैं जो एमडी होम्योपैथी पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं।  पूरे पाठ्यक्रम में सात विशेषज्ञताएं शामिल हैं।  ये

  1. Organon of Medicine with Homeopathic Philosophy
  2. Homoeopathic  Materia Medica
  3. Repertory
  4. Practice of Medicine
  5. Homoeopathic Pharmacy
  6. Pediatrics
  7. Psychiatry

Career in Homeopathy

Homeopathic में बहुत से अवसर मौजूद है चूंकि होम्योपैथिक का कोई साइड इफ़ेक्ट नही होता है इसलिए बहुत से लोग होम्योपैथिक के इलाज पर भरोसा करते है। होम्योपैथिक में दवाएं बच्चों और बड़ो पर समान रूप से काम करती है। Homeopathic Medicine का बड़े पैमाने पर – एलर्जी ,खासी ,सर्दी ,माइग्रेन ,डिप्रेशन , थकान ,गाठिया ,चिड़चिड़ा प्रीमेनस्ट्रल सिंड्रोम  आदि का इलाज किया जाता है । इसलिए डिग्री प्राप्त करने वाले लोग सरकारी और निजी हॉस्पिटल में काम कर सकते है। निजी क्षेत्र में भी प्रैक्टिस करके आगे बढ़ सकते है ।हमने कुछ लिस्ट दी जिनमे आप काम कर सकते है।

  1. Government (State/Central/Local )/Private hospitals and Dispensaries
  2. ESIC, Railways, NTPC, Coal India
  3. Nursing homes/Clinics/Health departments
  4. Management and administration (Government and Private)
  5. Drug manufacturing units (Government, Private, Autonomous, Cooperative sectors)
  6. Drug Control organizations. (State and Central Government)
  7. Homeopathic Pharmaceutical Companies
  8. Clinical Trials (Pharmaceuticals)
  9. National Health Mission (NHM)
  10. Medical Tourism
  11. Third-Party Administrators in the Health insurance sector
  12. Homeopathic Speciality Centers
  13. National AYUSH Mission etc.

जो लोग टीचर बनने में रुचि रखते है वे प्रोफेसर के रूप में मेडिकल कॉलेज में शामिल हो सकते है। होम्योपैथिक में रिसर्च की बहुत opportunity है। उम्मीदवार अनुसंधान में भी आगे बढ़ सकते है।

Homeopathic Job 

Homeopathic degree हासिल करने के बाद उम्मीदवार जॉब प्रोफिके में भी जा सकते है या फिर अपना क्लिनिक भी खोल सकते है । या उच्च अध्यन भी कर सकते है या फिर एक पेश भी चुन सकते है। कुछ प्रमुख जॉब प्रोफाइल।

  • Homeopathic doctors
  • Homeopathic consultant
  • Teaching jobs
  • Pharmacist
  • Insurance officer
  • Research professionals
  • Marketing specialists

Conclusion 

आशा करता हूँ आपको मेरा लेख BHMS full form पसंद आया होगा मेने कम शब्दों में सही जानकारी देने की कोशिस की । आपके लिए ये लेख एक अच्छी information साबित हो। अगर आप भी Homeopathic Medicine का यूज़ करते है तो इसके महत्व को जरूर समझते होंगे।

Web 3.0 क्या है ?
Part time Jobs ?
youtube shorts se paise kaise kamaye ?
Mobile se paise kaise kamaye ?

FAQ’S

BHMS कितने साल का होता है ?

BHMS 5 साल का होता है जिसमे आपको 4 साल स्टडी ओर 1 साल आपको practise (internship) करनी होती है।

BHMS की salary कितनी होती है ?

भारत में BHMS का वेतन 3 लाख से 10 लाख तक होता है। अगर एवरेज वेतन  बात करे तो 3.5 लाख वार्षिक है 

BHMS में admission लेने के लिए NEET में कितने मार्क्स लाने होते है ?

BHMS में सरकारी collage में एडमिशन के लिए NEET में 350 अंक (marks) की जरूरत होती है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here