OSI model vs TCP IP model क्या है ? | OSI and TCP/IP Model

OSI Model Vs TCP IP Model

Networking Concept 

आज हम OSI and TCP /IP Model क्या है । हम क्या सीखेंगे आज ये जान लेते है । 5 चीजे हम सीखने वाले है चलिए जानते है वो क्या है। OSI Model Vs TCP/IP Model कैसे काम करता है।

  1. What is OSI Model ?
  2. How does OSI model work ?
  3. What is TCP/IP model ?
  4. How does TCP/IP Model work ?
  5. OSI Vs TCP/IP model ?

What is OSI Model (OSI Model क्या है ?)

OSI model का full form होता है OSI (Open System Interconnection Model ) है । OSI model एक ऐसा मॉडल है जो हमे कुछ function define कर रहा है 7 layers के अंदर जिसकी मदद से हम 2 system के बीच में Standardize Communication set कर सकें।ओर जो OSI model है वो bottom to Up काम करती है । यानी नीचे से ऊपर की तरफ ।

How it Works (OSI Model काम कैसे करता है )

OSI मॉडल कैसे काम करती हम इस चीज को समझते है । जैसा कि आप image में देख रहे हमारे पास 7 layers है जो कुछ इस तरह से है.

OSI and TCP Ip Model

  1. Application
  2. Presentation
  3. Session.
  4. Transport
  5. Network
  6. Data layers
  7. Physical

ये 7 layer हमे Networking में help करती है कैसे करेंगे आईये समझते है ? OSI model bottom यानी नीचे से कम करती है तो हम उसी क्रम में आपको बताते है।

Layer-1: Physical layer क्या होती है ?

Physical layer सबसे निचली layer होती है लेकिन OSI model की वजे से इस layer से ही काम शुरू होता है।इस लेयर का काम है Unstructured Data bits को transmitted करना दूसरे शब्दों में कहे तो Raw bits Streams Data को transfer करना।

Layer-2: DATA Layer क्या काम करती है ?

Data link layer का काम ये है कि यह सुनिश्चित करेगी कि जो data node to node transfer किया जा रहा है उसमें error न हो । यानी error free data transfer करना।

जब एक packet network में आता है तो ये DLL की जिम्मेदारी है कि MAC address का यूज़ करके data को host तक पहुचाए।

Layer-3: Network Layer क्या काम करती है ?

Network layer address resolution करता है ये Source IP ,destination IP पर काम करता है यानी  ये find करेगा जो data जा रहा है वो किस address पर जा रहा ।

Layer-4 :Transport क्या काम करती है ?

Transport layer क्या काम करती है इसका काम होता है end to end delivery यानी ये जो data transfer हो रहा है उसकी जानकारी देना की data transfer हुआ या नही अगर कोई error आता है तो ये फिर से data को transfer करता है , successful Data transmission acknowledgement करता है।

Layer-5: Session Layer क्या करती है ?

Session layer का काम है कि दो system के बीच session create करना ओर check करना कि जो Session create हुआ जी वह authentication है कि नही इसके लिए responsible है और Security को भी सुनिश्चित करती है ।अगर session टूट जाता है तो वह फिर से reconnect करेगी।

Layer -6: Presentation Layer क्या करती है ?

Presentation layer को हम Translation layer भी कहते है इसका  काम है data को manipulate करना जैसा कि ये data को incode करेगा ,encrypt करेगा ,zip file में convert करेगा यानी compress करेगा। जो भी process होता है इसे presentation Layer करती है।

Layer-7: Application Layer क्या काम करती है?

ये जो layer होती है ये high level layer होती है ये layer हमे resource sharing में हेल्प करती है ।यह protocols provide करती है software को data send करने और receive करने में। application layer के कुछ उदहारण आपको नीचे दे रहे है ।

जैसे HTTP (hypertext transfer protocol),FTP(file transfer protocol) POP (post office protocol), SMTP (Simple mail transfer protocol) ओर DNS (Domain Name System)

How it work OSI Model 

अब यह काम कैसे करेगा मान लीजिए किसी क्लाइंट ने किसी दूसरे server को कोई file ट्रांसफर किया कोई data भेजो तो वह उस server के पास जाएगा और OSI model उसे bottom to down read करेगा। Data की sharing ओर data को accept करने तक जो पूरा process है वो OSI model के जरिये से होता है। जैसे data securely transfer ,पूरा ट्रांसफर हो ,proper तरीके से हो।

Pegasus Spyware क्या है

What is TCP/IP model क्या है ?

पहले हम जानते है इसका full form क्या है TCP का full form है transmission control protocol ओर IP ( internet protocol ) है । Tcp/IP एक ऐसा model है जो OSI model का practical version है ये बिल्कुल OSI मॉडल की तरह काम करता है बस फर्क इतना है कि ये practical version है जिसे Wide area Network पर implement कर दिया गया इसको दो layers में बाटा गया है एक  4 layers है एक 5 layers है।

How it work TCP/IP Model (काम कैसे करता है TCP/IP model)

TCP/IP मॉडल 4 और 5 layers में डिवाइड की गई है image के द्वारा हम नीचे  इसे देखेंगे समजेंगे ।

OSI Vs TCP/IP Model 

यह पर हम देखेंगे कि tcp/ip model ओर OSI मॉडल में difference क्या है ।जैसा कि हम image में देख सकते है OSI model में 7 layers define हो रखी है ओर TCP/IP model 4 layers में डिफाइन लेकिन दोनों में ज्यादा difference नही है ।ये जो OSI model layers है इन्ही 7 layers को TCP/IP की 4 layers में combine किया गया है। 

Starting की 3 layers application में combine की गई है।last की 2 layers को Network Access Layers में को गयी ह।इन्ही सारी layers को combine करके TCP/IP मॉडल बनाया गया है जो कि practically यूज़ आ रहा है Wide Area Network में । OSI model की सारी functioning tcp/IP मॉडल कर रहा है।

Conclusion

आशा करता हु आज के इस आर्टिकल में आपको OSI Vs TCP/IP Model क्या है ? ये जानकारी पसंद आई होगी, Ethical Hacking Courses के इस series में आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा । आज आपने क्या सीख । Next chapter में हम आपके लिए बेहतर जानकारी देंगे अगर आपको कोई जानकारी चाहिए तो हमे comment करके बात सकते है।

FAQ

TCP-IP क्या है इसके मॉडल में कितनी लेयर होती है ?
OSI model का full form होता है OSI (Open System Interconnection Model ) है । OSI model एक ऐसा मॉडल है जो हमे कुछ function define करता है और OSI model में 7 layer है.
TCP/ IP क्या है ?

TCP/IP एक ऐसा model है जो OSI model का practical version है ये बिल्कुल OSI मॉडल की तरह काम करता है बस फर्क इतना है कि ये practical version है जिसे Wide area Network पर implement कर दिया गया इसको दो layers में बाटा गया है एक  4 layers है एक 5 layers है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here