Pegasus Spyware kya hai

New Pegasus Spyware kya hai 2024 ?

पेगासस एक spyware Software है जिसकी मदद से जासूसी की जाती है. इसको इसराइल cyber security Company NSO द्वारा develop किया गया है.Pegasus spyware एक ऐसा software program है. जो users के मोबाइल ओर कंप्यूटर से Secret और personal जानकारियां चोरी करता है.ओर उन्हें नुकसान पहुंचता है.

इसराइल ने क्यू बनाया ये स्पाइवेयर ?

इजरायल देश की Cyber Security Company NSO इस तरह के साइबर की सिक्योरिटी को मजबूत ओर जासूसी करने वाले equipment बनाते है.ओर फिर सरकार या सरकारी एजेंसी को बेचकर बहुत मुनाफा कमाते है.pegasus को भी इजरायल देश की  company नी ही बनाया ओर कई country को जासूसी करने के लिए बेचा गया है. जिसमे भारत का भी नाम सामने आ रहा है.

इस तरह की जासूसी के लिए pegasus Operator एक खास तरह का link users के पास send करते है.उस लिंक को क्लिक करते ही आपके मोबाइल में without permission pegasus spyware software install हो जाता जो आपकी RAM में 5% से भी काम Space घेरता है. इसलिए आपको इसके होने का भी पता नहीं चलता . सबसे पहले ये text message के द्वारा किया जाता था लेकिन बाद ये वॉट्सएप ओर video miss call के जरिए भी होने लगा.

पेगासस स्पाइवेयर(Pegasus Spyware)क्या है ?

हाल ही में भारत सहित अन्य देशों में पेगासस को लेकर काफी चर्चा है. पेगासस एक जासूसी Software है. जिसके जरिए हम android,IOS,ओर यह तक IPhone को भी hack किया जा चुका है. ये software सिर्फ सरकारी एजेंसी या government को बेचा जाता है.लेकिन हो सकता है की ये software कुछ अरबपति लोगो को भी बेचा हो. लेकिन इसराइली कंपनी NSO ने ये Spyware सिर्फ Government और सरकारी एजेंसी को बेचने की बात कही है.

pegasus spyware बहुत costly सॉफ्टवेयर है जिसकी कीमत आपको इसकी official website पर भी नहीं मिलती है लेकिन कुछ न्यूज़ चॅनेल्स ने इस सॉफ्टवेयर की कीमत 7 से 8 million बताई गयी है.चली जानते ही ये Pegasus Spyware क्या है.ओर कैसे काम करता है.

Pegasus Spyware कैसे काम करता है?

माना जाता है कि पेगासस दुनिया में सबसे sophisticated spyware में से एक है. Operating System में कमज़ोरियों को Target करके Spyware iOS और Android दोनों Devices को हैक कर सकता है.

पेगासस एक powerful malware है. जिसकी मदद से android ओर ios ,iphone को whatsapp link या video missed call के जरिए मोबाइल में auto install किया जाता है.ये आपके paswords किये गए aplication से भी data निकाल लेता यानि आपकी internet banking भी खतरे में आ सकती है.ओर फिर आपका डाटा चोरी हो जाता है.

पेगासस स्पाइवेयर के बारे में

  • पेगासस एक Spyware Software है, जिसे इज़रायली Cyber Security Company NSO द्वारा Develop किया गया है।
  • Pegasus एक ऐसा software प्रोग्राम है जो Users के मोबाइल ओर computer से Secrete ओर personal जानकारी को हासिल करता है।
  • इस तरह की जासूसी के लिये पेगासस Operator एक खास लिंक Users के पास भेजता है, जिस पर क्लिक करते ही यह स्पाइवेयर Software Users की Permission के बिना खुद ही Install हो जाता है।
  • इस स्पाइवेयर के नए संस्करण में Link की भी आवश्यकता नहीं होती, यह सिर्फ एक Missed Video Call  के द्वारा ही इंस्टॉल हो जाता है। पेगासस स्पाइवेयर इंस्टाॅल होने के बाद pegasus Oprator को Phone से जुड़ी सारी जानकारियाँ प्राप्त हो जाती हैं.

Pegasus spyware android download

Pegasus Software download करना चाहते है.तो आपको इस आर्टिकल को पढ़ कर ये पता चल गया होगा की ये सॉफ्टवेयर न ही किसी व्यक्ति और न ही play Store में available है.ये 7-8 million cost का software जिसे सरकार ही खरीद सकती है.

Spyware app Software List For Android 

अगर आप भी किसी की जासूसी करना चाहते है. जैसे अपनी गर्लफ्रेंड या वाइफ या फिर किसी दोस्त की तो आप नीचे दिए गए Spy Apps के जरिये कर सकते है. कुछ apps free है और कुछ paid है.

Spy Apps Price
MSPY $8.33 /Month
Cerberus Free /$5-43 per Year
FlexiSPY Free / $99 -$199 per 3 months
Spyera $89 /Month
XNSPY Free / $59.99-$89.99 per year
Prey Anti Theft Free
OEM Find My Phone apps Free
Find My Device by Google Free
Carrier family locator apps Free
Google Family Link Free

Spyware क्या होता है ?

Spyware एक प्रकार का malware है.जो Digital Devices जैस -Computer,Laptop,Mobile, Tablet से Secrete एवं personal जानकारियों को चुराता है. यह Gmail Account, Bank Detail, Social Media से लेकर Text SMS जैसी Movement पर नज़र रखता है. एवं वहाँ से Data चोरी करके अपने ऑपरेटर तक पहुँचाता है.

यह ज़्यादातर New Device Modal और ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ जुड़ा होता है.इन्हें इस तरह से डिज़ाइन किया जाता है कि डिवाइस यूज़र को डिवाइस में स्पाइवेयर के होने का पता न चल सके.

कई बार कंपनियाँ अपने Computer System में खुद Spyware डलवाती हैं ताकि ये पता कर सकें कि Employee अपना काम सही तरीके से कर रहे हैं या नहीं।

Spyware कई प्रकार के होते हैं:

Adware:यह एक साधारण type का Spyware है.जो मुख्य रूप से advertisement owner के द्वारा उपयोग में लाएं जाते है.

Cookie Tracker : इसके जरिए किसी व्यक्ति की internet movement के बारे में जानकारी हासिल की जाती है। 

System Monitor : इसका उपयोग Devices की movement पर नज़र रखने और Data record करने हेतु किया जाता है।

Trozen: इसे Real Application, दस्तावेज़ या Software के रूप में चित्रित किया जाता है।

Spyware से बचाव के तरीके

  • Spyware की जासूसी से बचने के लिये Computer एवं Mobile में Anti Spyware Software का इस्तेमाल करने के साथ ही समय-समय पर इसे अपडेट करते रहें।
  • इंटरनेट पर कोई जानकारी सर्च करते समय केवल trusted website पर ही Click करें।
  • Internet Banking या किसी भी ज़रूरी अकाउंट को कार्य पूरा होने के पश्चात् log Out करें।
  • Pasword टाइप करने के बाद ‘रिमेंबर’ पासवर्ड या ‘कीप लॉगइन’ जैसे ऑप्शन पर क्लिक न करें।
  • Cyber Cafe, Office या सार्वजनिक सिस्टम पर बैंकिंग लेन-देन न करें।
  • DOB (Date Of Birth ) या अपने नाम जैसे Simple Pasword  न बनाएँ, पासवर्ड में लेटर, नंबर और Special Corrector का मिश्रण रखें। 
  • Social Media, e-Mail, बैंकिंग इत्यादि के पासवर्ड अलग-अलग रखें.बैंक के दिशा-निर्देशों का पूरी तरह पालन करें। बैंक की तरफ से आए किसी भी तरह के अलर्ट मेसेज को नज़रअंदाज़ न करें एवं Debit Card का pin number नियमित अंतराल पर बदलते रहें।

इसके अलावा Cyber सुरक्षा के बारे में लोगो को जानकारी देना ओर cyber अपराधों को रोकने या कम करने के लिए दिशा -निर्देश तैयार किए गए है.

Pegasus के नाम का मतलब

Greek mythology के अनुसार, पेगासस की उत्पत्ति देवता पोसाएडन और मेडूसा से हुई थी. यह एक सफेद रंग का ताकतवर घोड़ा होता है, जिसके बड़े-बड़े पंख होते हैं. Greek Mathelogy में पेगासस बुद्धिमत्ता और प्रसिद्धि का प्रतीक है.

Encryption एवं Decryption

Whatsapp के अनुसार, इसके ज़रिये भेजे जाने वाले मैसेज End to End Encripted होते है. और इन्हें बीच में कोई भी इंसान पढ़ नहीं सकता.

Encryption

जब हम Internet पर कोई Sensitive या Important  Information save करते हैं. तो हम उस सूचना को Hack होने से बचाने के लिये encrypt कर देते हैं. अर्थात् उसे एक code language या कोड में बदल देते हैं. ताकि किसी अन्य व्यक्ति के पास पहुँचने पर भी सूचना को पढ़ा न जा सके। दरअसल Encryption एक ऐसी process है. जिसमें Information को ऐसे Form/Code में Change कर दिया जाता है. जिसे समझना एक आम आदमी के लिये बहुत मुश्किल है.

Decryption

वहीं Decryption की प्रक्रिया Encryption के ठीक विपरीत होती है. जिसमें किसी इन्क्रिप्टेड या कोडेड फाइल/मैसेज को डी कोड कर उसे ऐसे फॉर्म में बदल दिया जाता है. जो आम आदमी की समझ में आए.

 2016 में पहेली बार आया नाम

रिपोर्ट के मुताबिक Pegasus से जुड़ी जानकारी पहली बार साल 2016 में संयुक्त अरब अमीरात के HumanRights कार्यकर्ता अहमद मंसूर की बदौलत मिली.उन्हें कई SMS प्राप्त हुए थे, जो उनके मुताबिक Doubtful थे. उनका मानना था कि उनमें Link गलत मकसद भेजे गए थे. उन्होंने अपने फोन को Toronto University के Citizen Lab के जानकारों को दिखाया. उन्होंने एक अन्य Cyber Security Farm Lookout से मदद ली.

लेखक के विचार

Pegasus spyware क्या है ये आप इस आर्टिकल में आपको पता चल गया होगा की गवर्नमेंट इस तरह के Spyware को क्यों खरीद रही अब आपको भी पता चल चूका है तो कृपया आप इसे playstore में मत खोजे ये बहुत ही costly है। 

Similar Posts