Retail

HOW TO ENTER IN RETAIL?

 

में आपको ये बताने जा रहा हूँ की आप Retail में कैसे Entry ले सकते है इसके लिए आपको कम से कम  12th class pass होना जरुरी है। Retail  में आप क्यों  जाना चाहते हो ये बात आपके लिए बहुत मायने रखती है। क्यूँकि अक्सर जब लोग Retail में आ जाते है तो वो रिटेल को समज नहीं पाते है और अपना टाइम और अपनी Dream जॉब्स को भी वो peeche छोड़ चुके होते साथ साथ बहुत सी चीजे भी छूट जाती है।

what is a Retail? रिटेल क्या है।

रिटेल क्या हैं ,ये एक लाभ कमाने के उद्देश्य से वितरण के कई चैनलों के  माध्यमो से कस्ट्मर उपभोक्ता को goods and Service देने की एक प्रक्रिया हैं। आज रिटेल इंडस्ट्री बहुत बढ़ चुकी इंडिया में ओर globaly ये day to day बढ़ रही है। इसमें इनोवेटिव भी हो रहा है।

Why are you Join in Retail?आप रिटेल क्यूँ join करना चाहते है।

अगर आप रिटेल जॉइन करना चाहते हैं तो आपके मन मे बहुत सारे सवाल जरूर होंगे।उन सब के जवाब आपको इस ब्लॉग में जरूर मिल जाएंगे।रिटेल जॉइन क्यों करे ,अगर अपकी selling skill अच्छी है और आप कॉन्फिडेंस (confidence) होकर customer से बात कर सकते हैं तो ये इंडस्ट्री आपको बहुत पैसे कमा कर दे सकती है और एक अच्छी position भी मिल जाती है।

रिटेल join करने से पहले आपको ये बाते जानना जरूरी हैं।
  • communication skill
  • english speaker
  • confidence leval
  • observation
  • leadership
  • time management
  • Patience
  • Marketing & advertisement
  • good behaviour.

ये सब quality अगर आपके में हैं तो आप इस इंडस्ट्री में बहुत ऊपर तक जा सकते है। लेकिन आप मे अगर ये Qauality अभी नई है तो कोई बात नई आप तब भी इस इंडस्ट्री में जॉब के लिए Enter हो सकते ओर फिर इन सारी skill को आप improve कर सकते हैं।

Which Format i should  join ? आपको कोनसे फॉर्मेट या कंपनी को join करना चाहिए।

अगर आपको नही पता कि आपको कोनसी कंपनी या किस फॉर्मेट में join होना चाहिए शुरू में तो आपको ये बात जानना बहुत जरूरी हैं। अगर आप एक fresher (नोसिखिये) हो आपको नही मालूम कि रिटेल क्या होता हैं तो आपके लिए जरूरी है कि आप कोई अच्छी कंपनी या अच्छा फॉरमेट में रिटेल जॉब के लिए apply करे। वैसे तो आप किसी भी फॉर्मेट में कर सकते है लेकिन आप चाहते है कि आपको एक बहेतर knowledge मिले तो आपको एक अच्छा फॉर्मेट join करना होगा।

हम आपके लिए कुछ अच्छे फॉर्मेट की List पेश कर रहे हैं।
Good Formate For Fresher Candidate इंडिया के टॉप फॉर्मेट। Top Formate in india 
  • Shopper Stop
  • Mark Spencer
  • Pantaloons
  • Lifestyle
  • Reilance Trends
  • Max

ये india के top फॉरमेट में से हैं । वैसे तो ओर भी top ओर अच्छे फॉर्मेट हैं। लेकिन हम आपको बड़े फॉर्मेट के बारे में बता रहे है। इनमे से एक फॉरमेट ऐसा भी है जिसमे मैंने खुद 5 साल जॉब की हैं। उस फॉर्मेट का नाम pantaloons हैं ये एक ऐसा फॉर्मेट जिसे traing center के नाम से भी लोग कहते है।क्यूँकि यहाँ की training बहुत अच्छि होती हैं। यहाँ आपको display ,selling skill, cashier, product knowledge, etc.अच्छी knowledge दी जाती है

कोर्स और प्रेवेश संबंधी जानकारी।

Retail इंडस्ट्री में कई प्रकार के professional course होते हैं उन कोर्स के माध्यम से आप Entry ले सकते हैं। कोर्स जैसे : MBA, PG Diploma,Diploma,Certificate, आदि।भारत की पहेली Retail Association Of India हर साल एक common admission Retail Test भी करती हैं। ये एक अखिल भारती टेस्ट हैं।

किस तरह की जॉब रिटेल में होती हैं। Which Types Of Jobs in Retail?

रिटेल इंडस्ट्री में वैसे तो तामाम जॉब्स मौजूद हैं।हम आपको उन सब जॉब्स के बारे में जानकारी देंगे।

स्टोर के अंदर की जॉब्स (In Store JoBs)

  • सेल्स पर्सन
  • टीम लीडर
  • डिपार्टमेंट मैनेजर
  • असिस्टेन्ट स्टोर मैनेजर
  • स्टोर मैनेजर
  • हैड केशियर
  • विसुअल मर्चेंडाइजेर
  • इलेक्ट्रीशियन
  • टेलर. 
  • एडमिन.
  • हाउसकीपिंग.
  • सिक्योरिटी गार्ड
Other JoBs
  • Area business manager
  • Area HR.(Human Resourse)
  • Product category manager
  • Area visual merchandiser
  • Marketing manager.
  • Business Head.
  • COE.
  • COF.
  • Director.
वेतन (Salary) ?

रिटेल इंडस्ट्री में सैलरी का ऐहम रोल होता हैं।वैसे तो किसी भी जॉब्स में सैलरी का रोल  important होता हैं क्यूँकि इसी के लिए हम महेनत करते हैं। तो एक सेल्स पर्सन की सैलरी जो शुरू होती हैं इंडिया में वो 7200-10000 रुपया होता हैं। in hand (यानी PF Fund कटने के बाद employee के हाथ मे 7200 रुपए आते हैं) जबकि कॉलेज से MBA करके आने वालों को 22000-30000 रुपए दिए जाते हैं ,ओर वो college placement के जरिये आते हैं और Department manager की जॉब के लिए नियुक्त किये जायें हैं

Incentive & Bonos क्या होता हैं ?

इंसेंटिव वो होता हैं जो कंपनी के द्वारा दिया गया टारगेट पूरा करने पर एक्स्ट्रा पैसा मिलता हैं। और bonos वो होता हैं जो इंडिया में दीवाली पर दिया जाता हैं।